नई दिल्‍ली। उत्‍तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के साथ कोई बड़ा गठबंधन नहीं करेगी। कांग्रेस की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने रविवार को भरोसा जताया कि उनकी पार्टी में गठबंधन किए बिना चुनाव लड़ने और अपने दम पर अगली सरकार बनाने की क्षमता है। उन्‍होंने प्रियंका गांधी वाड्रा को बदलाव की आंधी करार दिया। अजय कुमार ने कहा कि कांग्रेस अगले साल के उत्तर प्रदेश विधानससभा चुनाव प्रियंका गांधी वाड्रा की देख-रेख में लड़ेगी।
 लल्लू ने कहा कि प्रियंका गांधी के नेतृत्व में पार्टी करीब तीन दशक बाद राज्य में वापसी करेगी। प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष ने कहा कि पार्टी दमनकारी उत्तर प्रदेश सरकार को मुख्य चुनौती देने वाली पार्टी के तौर पर उभरी है। उन्‍होंने दावा किया कि 403 सदस्यीय विधानसभा में महज पांच विधायकों के साथ उनकी पार्टी 49 विधायकों वाली सपा से ज्यादा प्रभावी विपक्ष के रूप में साबित हुई है। उन्होंने राज्य में बदलाव की हवा चलने का जिक्र करते हुए कहा, बदलाव की आंधी है जिसका नाम प्रियंका गांधी है।
प्रदेश कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि प्रियंका गांधी के नेतृत्व में राज्य में विभिन्न स्तरों पर कांग्रेस संगठन मजबूत हुआ है। उत्तर प्रदेश चुनावों के लिए क्या पार्टी को प्रियंका गांधी को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं बनाना चाहिए, यह पूछने पर लल्लू ने कहा कि मुख्यमंत्री पद के लिए किसे चेहरा बनाया जाएगा इसका फैसला पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व करेगा। चुनावी जंग में प्रियंका गांधी को चेहरा बनाए जाने के सवाल पर लल्लू ने कहा कि वह राज्य की प्रभारी हैं। चुनाव उनकी देखरेख में लड़ा जाएगा। उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश के लोग उम्मीद से कांग्रेस की तरफ देख रहे हैं। उनके (प्रियंका गांधी के) नेतृत्व में कार्यकर्ताओं के बीच बहुत उत्साह है। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी।
उनकी टिप्पणी ऐसे वक्त में आई है जब पार्टी विधानसभा चुनाव के लिए तैयारी में जुट गई है और प्रदेश इकाई ने प्रखंड अध्यक्षों, जिला अध्यक्षों और अन्य पदाधिकारियों के लिए क्षेत्रवार प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन शुरू कर दिया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी इस महीने कई जिलों का दौरा कर सकती हैं। उनका लक्ष्य कैडर को उत्साहित करना और पार्टी को सत्तारूढ़ भाजपा के साथ छिड़ी चुनावी जंग के लिए तैयार करना है। लल्लू ने कहा कि कांग्रेस लोगों, किसानों, गरीबों, महिलाओं और दलितों के मुद्दों के साथ गठबंधन करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस गठबंधन के साथ लोगों के पास जाएगी और उसे भरोसा है कि वे इसका साथ देंगे।