बिलासपुर । जिला पंचायत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की अहम बैठक को 14 अगस्त को बुलाया गया है। बैठक की अध्यक्षता सभापति अंकित गौरहा करेंगे। इस दौरान जिला स्वास्थ्य अधिकारी के अलावा समिति के सदस्य विशेष रूप से मौजूद रहेंगे। बताते चलें कि कोरोना काल में जिला पंचायत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण की पहली मासिक बैठक में आठ प्रमुख मुद्दों पर चर्चा होगी। कोरोना काल में उत्पन्न वस्तुस्थितियों को लेकर गंभीरता के साथ समीक्षा भी होगी।
 बताते चलें कि कोरोना काल में लोगों की परेशानियां कुछ कम होती नजर नहीं आ रही है। उत्पन्न समस्याओं के मद्देनजर जिला पंचायत स्वावस्थ्य विभाग सभापति के परामर्श पर 14 अगस्त को साढ़े 12 बजे मासिक बैठक का आह्वान किया गया है।
बैठक में पांच सदस्यों के अलावा जिला स्वास्थ्य अधिकारी विशेष रूप से मौजूद रहेंगे। इस दौरान निर्धारित प्रमुख आठ बिन्दुओं पर चर्चा होगी। सभापति अंकित गौरहा ने बताया कि इस दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के राष्ट्रीय कार्यक्रम और कार्यों की समीक्षा होगी। कोविड-19 से बचाव और सुरक्षा को लेकर विभागीय कार्यों की जानकारी पर बातचीत करेंगे। साथ ही साथ भविष्य में इस तरह से उत्पन्न हालात पर नियंत्रण को लेकर उपायों पर विचार विमर्श करेंगे। 
गौरहा ने बताया कि बैठक में कोविड-19 गर्भवती माताओं के लिए प्रत्येक विकासखण्ड में बनाए गए क्वारंटीन सेन्टर और सुविधाओं की समीक्षा करेंगे। इस दौरान सभी लोग अपनी बातों को रखेंगे। साथ ही वर्तमान स्थितियों पर चर्चा भी करेंगे। वर्तमान परिस्थितियों में मितानिनों के पास उपलब्ध दवाइयों को लेकर भी बैठक में बातचीत होगी। 
जिला पंचायत सभापति ने बताया कि बैठक में मौसमी बीमारियों जैसे डायरिया, मलेरिया से निपटने विभाग की तैयारियों को लेकर सदस्यगण समीक्षा करेंगे। जनसंख्या वृद्धि नियंत्रण के उपायों पर बातचीत करेंगे। इसके अलावा आयुर्वेद, होम्योपैथी विभाग के कामकाज की समीक्षा करेंगे। विभाग की तरफ से क्या कुछ अभियान चलाया है..और अभियान का क्या कुछ परिणाम सामने आया है..बैठक में इस बात को लेकर गंभीरता से विचार विमर्श किया जाएगा। बैठक में सदस्यों की तरफ से भी पेश किए गए अन्य मुद्दों पर भी चर्चा होगी।
जिला पंचायत की परिवार एवं कल्याण समिति की बैठक में सदस्य किरण संतोष यादव, गोदावरी बाई कमल सेन, राजेश्वर भार्गव, घनश्याम कौशिक, जानकी सर्राटी विशेष रूप मौजूद रहेंगे।