गर्मियों में हर किसी को समस्या पसीना आता है। हालांकि किसी को ज्यादा तो किसी को कम पसीना आता है। कुछ लोग तो जरा-सा पसीना आने पर भी पंखे या एसी के नीचे जाकर बैठ जाते हैं। मगर, आप शायद यह नहीं जानते कि पसीना आना आपकी सेहत के लिए कितना फायदेमंद है। चलिए आपको बताते हैं कि पसीना आना सेहत के लिए क्यों जरूरी है।

क्यों जरूरी है पसीना आना?
पसीना में अमोनिया, यूरिया, प्रोटीन, नमक और चीनी जैसे कई तत्व होते हैं। आजकल लगभग हर किसी के घर या ऑफिस में एयरकंडीशन मौजूद है, जिसकी वजह से पसीना नहीं आता जबकि पसीने ना आने से घबराहट, ब्‍लड प्रेशर और बुखार जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। पसीना बॉडी को क्लीन करता है और हानिकारक टॉक्सिंस को बाहर निकालता है, जिससे आप कई हैल्थ प्रॉब्लम्स से बचे रहते हैं।

चलिए अब हम आपको बताते हैं पसीना आने से क्या-क्या फायदे मिलते हैं...

वजन घटाए
दरअसल, पसीना आने से कैलोरी बर्न होती है, जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है इसलिए एक्सरसाइज करते समय पसीना आना अच्छा होता है।

नैचुरल क्लींजर
पसीना शरीर के नुकसानदायक टॉक्सिन के अलावा अल्कोहल व नमक को भी बाहर निकालता है। इससे बॉडी डिटॉक्स होती है और आप कई समस्याओं से बच जाते हैं।

ग्लोइंग स्किन
क्योंकि पसीने से बॉडी व त्वचा डिटॉक्स होती है इसलिए इससे चेहरे का ग्लो भी बरकरार रहता है। साथ ही इससे डेड स्किन सेल्स भी निकल जाते हैं। यही नहीं, इससे चेहरे पर अनचाहे दाग-धब्बें भी नहीं होते।

बैलेंसिंग टेंपरेचर कंट्रोल
शरीर में से नियमित पसीना बाहर निकलने से बॉडी टेंपरेचर बैलेंस रहता है। इससे आप गर्मियों में होने वाली छोटी-मोटी समस्याओं से बचे रहते हैं।

बेहतर नींद और मूड़
पसीना आने से मूड बेहतर होता है और नींद भी अच्छी आती है। दरअसल, पसीना बाहर निकलने से शरीर में एंडोर्फिन रिलीज होता है, जो हैप्पी हार्मोन है। इससे मूड़ और नींद दोनों बेहतर होती है।

इम्यूनिटी बढ़ाए
शोध के मुताबिक, पसीने में 95% प्रोटीन होता है, जिसमें 20% नोवल डिफेंस प्रोटीन होते हैं। डर्मसीडिन ग्रंथियां सबसे अधिक स्वेट प्रोटीन छोड़ती है, जो इम्युनिटी बढ़ाने में मदगगार है। डर्मसीडिन वो ग्रंथियां है जो पसीने का स्राव करके त्वचा की सतह तक पहुंचाती है।

शरीर का केमिकल बैलेंस
दरअसल, पसीने के साथ शरीर में से प्रोटीन, सोडियम व पोटैशियम भी बाहर निकलता है, जिससे पोषक तत्व का बैलेंस रहता है। इससे आप ना सिर्फ दिल बल्कि हड्डियों से जुड़ी परेशानियों से भी बचे रहते हैं।

किडनी स्टोन से बचाए
गुर्दे में पथरी की समस्या आमतौर पर नमक और कैल्शियम जमा होने के कारण होती है। मगर, पसीने के साथ नमक शरीर से बाहर निकल जाते हैं। जबकि कैल्शियम को हड्डियां सोख लेती हैं, जिससे आप इस समस्या से बचे रहते हैं।

बेहतर ब्लड सर्कुलेशन
पसीने का प्रोडक्शन होने पर शरीर को खून की भी जरूरत पड़ती है। ऐसे में जब पसीना शरीर से बाहर निकलता है, तो ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है।

बालों के लिए फायदेमंद
स्कैल्प में पसीना आने से रोम छिद्र खुल जाते हैं, जिससे बालों की ग्रोथ पर असर पड़ता है। हालांकि ज्यादा पसीने आने पर शैंपू कर लें क्योंकि इससे खुजली व इंफैक्शन हो सकती है।