बिलासपुर । गोधन न्याय योजना के तहत गौ पालकों से गोबर खरीदकर गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट खाद तैयार किये जा रहे है। गौ पालकों ने 1 अगस्त तक गौठान समितियों में जितना गोबर बेचा था उसका पहला भुगतान 5 अगस्त को कर दिया गया था। इसी तरह 2 अगस्त से 15 अगस्त तक खरीदे गये गोबर का भुगतान 20 अगस्त को हितग्राहियों के खाते में किया जायेगा। कलेक्टर ने आज टी.एल. की बैठक में निर्देशित किया कि सभी गोबर विक्रेताओं को इस दिन भुगतान सुनिश्चित हो जाये।
कलेक्टर ने निर्देशित किया कि जिन शासकीय विभागों में खाद की आवश्यकता होगी उन्हें गोठानों से ही खाद खरीदना अनिवार्य है। कलेक्टर ने वन विभाग, उद्यानिकी, कृषि, नगर निगम सहित अन्य विभागों में जहां खाद की आवश्यकता होती है उन्हें गौठानों से खाद खरीदी के निर्देश दिये। कलेक्टर ने यह भी निर्देश दिया कि गौठानों में जितना गोबर खरीदा जा रहा है उसी अनुपात में वर्मी खाद भी बनना चाहिए। इसमें किसी तरह की गड़बड़ी न हो। खरीदे गये गोबर को गौठानो में सुरक्षित रखने की व्यवस्था सुनिश्चित करे।
उल्लेखनीय है कि जिले में अब तक 3 हजार 431 गौ पालको से 5 हजार 667 क्विंटल से अधिक गोबर क्रय किया गया है। खरीदे गये गोबर से 12 हजार 457 किलो वर्मी कम्पोस्ट खाद का उत्पादन भी किया जा चुका है।
बैठक में खरीफ फसल के लिए खाद की उपलब्धता की समीक्षा भी हुई। तथा किसी किस्म की खाद की कमी न हो यह सुनिश्चित करने कहा गया। महिला एवं बाल विकास द्वारा हितग्राहियों को घर पहुंचाकर सुखा राशन दिया जा रहा है। हफ्ते में 6 दिन राशन वितरण हो इसकी सतत मॉनिटिरिंग करने का निर्देश कलेक्टर ने दिया।
15 अगस्त से प्रारंभ होगा जिले में गढ़कलेवा
छत्तीसगढ़ी व्यजनों का आनंद लोगों को मिल सके इसके लिए राज्य सरकार द्वारा 15 अगस्त से हर जिला मुख्यालय में गढ़कलेवा केन्द्र शुरू की जा रही है। बिलासपुर के जिला पंचायत कार्यालय परिसर में गढ़कलेवा केन्द्र अस्थायी रूप से खोला जा रहा है। जिसमें छत्तीसगढ़ी व्यंजन फरा, चीला, बोबरा, ठेठरी, खुरमी, आदि का स्वाद लोगों का मिलेगा। कलेक्टर ने इसके लिए सभी तैयारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। स्वतंत्रता दिवस के दिन गढ़कलेवा विक्रय केन्द्र का सुभांरभ होगा।
बैठक में विभिन्न विभागों के समय सीमा के प्रकरणों एवं स्वतंत्रता दिवस के आयोजन की तैयारियों की समीक्षा भी हुई। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गजेन्द्र सिंह ठाकुर, अतिरिक्त कलेक्टर बी.एस.उइके, सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।